• calender
नए बदलावों साथ कुछ ऐसे होगा अब पबजी में चिकन डिनर
मई 18, 2021 | By - नितिन सिंह भदौरिया

नए बदलावों साथ कुछ ऐसे होगा अब पबजी में चिकन डिनर

लोकप्रिय मोबाइल गेम पबजी (PUBG) नए अवतार, नए नाम और नए नियमों के साथ भारत में वापसी करने जा रहा है। भारत में पबजी को अब Battlegrounds Mobile India के नाम से जाना जाएगा। कंपनी ने हाल ही में अपने सभी सोशल मीडिया पेज के नाम को बदला है। पहले ये सोशल मीडिया पेज पबजी मोबाइल इंडिया के नाम से थे, अब इन्हें बदलकर बैटलग्राउंड्स मोबाइल इंडिया (Battlegrounds Mobile India) के नाम पर कर दिया गया है। इस मॉर्टल कॉम्बेट गेम को बनाने वाली दक्षिण कोरियाई कंपनी क्राफ्टोन इंक ने 6 मई को सोशल मीडिया पर भारत में वापसी का ऐलान किया था। वहीं 18 मई यानि आज से भारत में इसका प्री-रजिस्ट्रेशन (Pre-Registration) शुरू हो गया है। माना जा रहा है कि Battlegrounds Mobile India जून में लॉन्च हो सकता है।

कैसे करें रजिस्ट्रेशन

* गूगल प्ले-स्टोर पर BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA को सर्च करें।
* जिसमें ऐप में BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA के साथ KRAFTON, Inc लिखा हो उस पर क्लिक करें।
* इसके बाद आपको ‘pre-register’ का एक बटन दिखेगा, इस बटन को दबाएं।
* यहां आप अपनी जानकारी दर्ज कर गेम के लिए आसानी से प्री-रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

PUBG से कितना अलग है BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA

पबजी से अलग है Battlegrounds Mobile India

BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA निर्माताओं का कहना है कि वैसे तो यह गेम खेलने के लिए फ्री में उपलब्ध होगा, लेकिन इन-ऐप पर्चेज में स्किन, हथियार जैसे अन्य एसेसरीज खरीदने का विकल्प रहेगा। यह पुराने पबजी की तरह ही होगा। प्री-रजिस्ट्रेशन करने वाले को गेम के लॉन्च होने पर यूसी (ऐप में कपड़े, हथियार खरीदने में इस्तेमाल होने वाला कैश), कपड़े, स्किन या कुछ और रिवॉर्ड मिलेंगे।

* यह गेम सिर्फ भारत के लिए होगा, जबकि पबजी में यूजर विदेशी खिलाड़ियों के संग मुकाबला कर सकता था।
* यूजर 7,000 रुपए से अधिक के ट्रांजेक्शन BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA पर नहीं कर सकेगा।
* बैटलग्राउंड्स मोबाइल इंडिया का अपना ईस्पोर्ट्स इकोसिस्टम, लीग और टूर्नामेंट्स होंगे। गेम में भारत को ध्यान में रखकर इवेंट्स, गेमप्लेस कैरेक्टर बनाए गए हैं। जिससे ऐप यूजर-फ्रेंडली हो सके।

पुराने यूजर्स को मिलेंगी ये सुविधाएं

पबजी मोबाइल की तरह सैनहोक मैप जैसी लोकेशन दिखेगी। क्राफ्टन ने सोशल मीडिया पर जो तस्वीर शेयर की है, वह PUBG में सैनहोक के बैन ताई इलाके की है। यह एक डॉक है, जहां पबजी में खिलाड़ी जमकर लूट करते थे। इससे अंदाजा लग रहा है कि बैटलग्राउंड्स मोबाइल इंडिया का मैप भी पबजी मोबाइल जैसा ही होगा। सितंबर 2020 में जब पबजी बैन हुआ तो पबजी मोबाइल के 175 मिलियन डाउनलोड्स थे। इसके 50 मिलियन मंथली एक्टिव यूजर थे। कई अकाउंट्स में यूजर्स ने पैसे खर्च कर काफी एसेसरीज खरीद रखी थी। नए अकाउंट में वह एसेसरीज जस की तस मिलेगी।

कंपनी का दावा यूजर्स का डाटा रहेगा पबजी में सुरक्षित 

इस मोबाइल गेमिंग ऐप की निर्माता कंपनी क्राफ्टोन ने कहा है कि वह डाटा प्राइवेसी और डाटा सिक्योरिटी को पहली प्राथमिकता के तौर पर देख रही है और वह इसके लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी डाटा सिक्योरिटी के लिए कंपनी कई अन्य कंपनियों के साथ भी काम कर रही है। कंपनी ने यह भी साफ कर दिया है कि BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA का डाटा सर्वर चीन के बजाए भारत-सिगांपुर में डाटा सर्वर होगा, जहां यूजर की जानकारी स्टोर की जाएगी। मतलब साफ है कि BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA के प्लेयर्स का पूरा डाटा भारत सरकार के नियमों के मुताबिक भारतीय डाटा सेंटर पर ही स्टोर होगा।

BATTLEGROUNDS MOBILE INDIA के नए नियम भी जान लाजिए

  • 18 से कम उम्र के लोगों को नहीं होगी ये गेम खेलने की अनुमति।
  • परिजनों का नंबर कंपनी को शेयर कर या उनके फोन से खेल सकेंगे गेम।
  • 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को दिन में ज्यादा से ज्यादा तीन घंटे खेलने की इजाजत होगी।
  • डेटा लोकलाइजेशन और सिक्योरिटी जरूरतों की समस्याओं को भी करेगा दूर
  • भारत-सिगांपुर में होगा डाटा सर्वर, जहां यूजर की जानकारी स्टोर की जाएगी।
  • पबजी का नया वर्जन पूरी तरह से भारत के यूजर्स को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है।
  • पबजी के इस नए वर्जन का चीन से नहीं है कोई कनेक्शन।

भारत में क्यों बैन हुआ था पबजी

भारत में बैन हुआ पबजी

भारत सरकार ने चीन के साथ सीमा विवाद के चलते 2 सितंबर 2020 को देश में PUBG समेत 118 मोबाइल ऐप्‍स पर बैन लगाया था। बता दें कि केंद्र ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए इन ऐप पर प्रतिबंध लगाया है। सरकार को ऐसी रिपोर्ट मिली थी कि ऐंड्रॉयड और iOS प्लेटफॉर्म पर उपलब्‍ध ये मोबाइल ऐप यूजर्स का डेटा चोरी कर रहे हैं और यह डेटा देश से बाहर स्थित सर्वर पर अवैध रूप से पहुंचा रहे हैं। रिपोर्ट के चलते मसले की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने यह फैसला उठाया था। सितंबर में केंद्र सरकार ने देश में PUBG Mobile और PUBG Mobile Lite पर बैन लगाया था। मगर जिन यूजर्स के डिवाइस में यह गेम डाउनलोडेड था, वे इसका इस्तेमाल कर पा रहे थे। वहीं सरकार ने 30 अक्टूबर से भारत में इसका एक्सेस और सर्वर पूरी तरह बंद कर दिया था।

उम्मीद है कि आपको इस ब्लॉग में दी गई जानकारी पसंद आई होगी। AlShorts लगातार ऐसे ही विषयों पर आपको दिलचस्प जानकारी उपलब्ध करवाता रहेगा। हमारे साथ जुड़े रहें और पढ़ते रहिए देश और दुनिया से जुड़े रोचक ब्लॉग्स।

Optimized with PageSpeed Ninja