• calender
दुबई कॉइन के जरिए हेरा-फेरी के संकेत, सरकार ने कहा सावधान!
मई 29, 2021 | By - Vaibhav Sharma

दुबई कॉइन के जरिए हेरा-फेरी के संकेत, सरकार ने कहा सावधान!

आपने फिर हेरा फेरी देखी होगी, जिसमें पैसा डबल करने की स्कीम के चलते कई लोग इस फ्रॉड का शिकार होते हैं। केवल आम आदमी ही नहीं बल्कि फिल्म के अभिनेता भी इस मायाजाल में फंस जाते हैं। आज ऐसा ही स्कैम पढ़ेंगे जिसे पढ़ कर आप भी कहेंगे, पैसा ही पैसा बाबू भैया… पैसा ही पैसा!!!!

दुनियाभर के बाजारों पर कोरोना महामारी ने ऐसा असर डाला है कि सालभर सदाबहार रहने वाले बाजारों में उठापटक नजर आ रही है। चाहे तेल कि वैश्विक कीमते हो, सोना हो या चांदी, सभी शेयर बाजारों पर कोरोना का साया है। ऐसे में पिछले दिनों मार्केट में दुबई कॉइन की बेहद चर्चा है। जिसे लेकर कहा जा रहा है कि यह मध्य पूर्व के देश संयुक्त अरब अमीरात की तरफ से क्रिप्टोकरेंसी के क्षेत्र में एक नई एंट्री है।

आज के इस ब्लॉग में हम आपको इस नई करेंसी से जुड़ी सारी जानकारी देंगे, आपको हम पहले ही बता दें कि लॉन्चिंग के 24 घंटों में ही इस दुबई कॉइन्स में 1000 प्रतिशत का उछाल देखा गया है।

लॉन्चिंग होते ही दुबई कॉइन में 1000 फीसदी का मुनाफा

करेंसी के बारे कहा गया है कि यह दुबई की पहली क्रिप्टोकरेंसी है। कुछ चुनिंदा क्रिप्टो मार्केट में इसकी ट्रेंडिंग भी शुरू हो चुकी है। साथ ही साथ इसे लेकर एक विवाद ने भी जन्म ले लिया है। इस करेंसी का नाम दुबई कॉइन और डीबीआईएक्स है। पिछले 24 घंटे में आए उछाल के चलते बाजार विशेषज्ञों की निगाहें इसपर टिकी हुई थी। रिपोर्ट्स के अनुसार, 10,000 रुपए लगाने पर लोगों को लाखों रुपए का मुनाफा बताया गया था।

 

Dubai media office

फिर झोल कहा हुआ?

दरअसल, इसके ट्रेंडिंग में आते ही दुबई मीडिया ऑफिस ने एक आधिकारिक प्रेस नोट जारी करते हुए बताया कि इसे फिलहाल मान्यता नहीं दी गई है। वहीं दुबई इलेक्ट्रॉनिक सिक्योरिटी सेंटर ने निवासियों को आगाह करते हुए बताया कि दुबई कॉइन क्रिप्टोकरेंसी को कभी भी किसी आधिकारिक प्राधिकरण द्वारा मान्यता नहीं दी गई है। इस सिक्के का प्रचार करने वाली वेबसाइट जालसाजी अभियान में लिप्त हो सकती है। ऐसे में लोगों को आगाह करने के लिए कई प्राधिकरणों ने चेतावनी भी जारी की।

 

कैसा हो रहा था कारोबार

  • रिपोर्ट्स के अनुसार, ट्रेंडिंग क्रिप्टो डॉट कॉम पर शुरू हुई थी।
  • जिसके बाद बाजार में इसके लिए काफी उत्साह देखने को मिला।
  • लांच होते ही यह 1000 प्रतिशत के ऊपर रेट करने लगी थी।
  • 1000 रुपए से लाखों रुपए का फायदा होने की चर्चाएं तेज हो चुकीं थी।
  • 28 जून दोपहर में यह करेंसी 1114 फीसदी की तेजी के साथ ट्रेंडिंग पर थी।
  • इसका वॉल्यूम 4.84 मिलियन डॉलर का बताया गया था।
  • इसे यूएई की कम्पनी अरेबियनचेन ने लांच किया है।

 

fake scam Dubai coin

कंपनी का बयान-

दुबई कॉइन को लांच करने वाली अरेबियनचेन टेक्नोलॉजी का दावा है कि यह MENA क्षेत्र में पहला सार्वजनिक, विकेंद्रीकृत और आम सहमति से संचालित ब्लॉकचेन है। लेकिन जब असल कंपनी की पड़ताल हुई तो कंपनी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट के जरिए खुद इस सूचना को एक फेक स्कैम बताया है। कम्पनी ने एक प्रेस रिलीज भी साझा की है जिसे फर्जी नाम से बनाया गया था जो अब हटा दी गई है।

 

भरोसेमंद या ऑनलाइन फिशिंग दुबई कॉइन्स

इसके ट्रेंड करते ही यूएई सरकार ने इन्वेस्ट करने वालों और खरीदने वालों को साफ़ तौर पर कहा कि यह कोई स्कैम हो सकता है। फिलहाल दुबई सरकार की ओर से किसी प्रकार की कोई क्रिप्टोकरेंसी जारी नहीं की गई है। जिसमें यह भी बताया गया है कि इसमें दुनियाभर के लोगों की निजी जानकारी भी चुराई जा सकती है। ब्लॉग लिखने तक फिलहाल इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं मिल पाई। आधिकारिक बयान आते ही हम इस ओर आपको ओर जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

 

अंत में चेतावनी- ऑनलाइन निवेश या किसी भी प्रकार की पेमेंट करते वक्त हमेशा सतर्क रहें और हमेशा पूरी जांच पड़ताल के बाद ही पैसे इन्वेस्ट करें। अपनी मेहनत की कमाई को किसी के हाथों में ना दें, स्कैम से सावधान रहें।

Optimized with PageSpeed Ninja