साल 2020 में खेल जगत से जुड़ी 20 बड़ी ख़बरें!
दिसम्बर 25, 2020 | By - Prashant Sharma

साल 2020 में खेल जगत से जुड़ी 20 बड़ी ख़बरें!

कहते हैं खिलाड़ी कभी भी किसी भी परिस्थिति में हार नहीं मानता, ना उसे रुकना आता है और ना ही थकना। लेकिन साल 2020 में खेल भी रूके, खिलाड़ी भी रूके और मैदान भी सूने दिखे। कोरोना महामारी के बीच हुए लॉकडाउन ने बड़े-बड़े आयोजनों को रद्द करने पर मजबूर कर दिया। वहीं इस साल कुछ खिलाड़ियों ने अपनों को खोया, तो कुछ ने अपने सपनों को खोया। कैसा रहा खेल की दुनिया के लिए साल 2020 का यह सफर चलिए डालते है एक नजर-

1. ओलम्पिक पर कोरोना का काला साया-
साल 2020 में खेल से जुड़ी सबसे बड़ी और सुर्खियां बटोरे वाली खबर रही ओलंपिक खेलों का रद्द होना! दुनिया के सबसे बड़े खेल इवेंट का आयोजन ही रद्द करना पड़ा,  टोक्यो में ना तो खेलों का मेला लगा और ना ही खिलाड़ी अपना दम दिखा पाए। इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी महामारी के चलते ओलंपिक खेलों को रद्द करना पड़ा, इससे पहले भी यह खेल 5 बार रद्द हुए थे लेकिन तब कारण कुछ और थे। साल 2020 को ओलंपिक ईयर का नाम दिया गया था और इन खेलों को 24 जुलाई से शुरू होना था, जिन्हें अब अब अगले साल तक के लिए टाल दिया गया है। लेकिन मौजूदा समय की परिस्थितियों को देखकर भी अगले साल इन खेलों का तय समय पर होना मुश्किल लग रहा है।

2. क्रिकेट में ‘Black Lives Matter’ की एंट्री-
इस साल इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच हुई टेस्ट सीरीज सबसे खास रही। इस पहला कारण था कि यह सीरीज लॉकडाउन के बाद पहली सीरीज थी, साथ ही सीरीज में  ‘Black Lives Matter’को लेकर आवाज उठी थी। जहां पूरी सीरीज में टीमों ने अपनी जर्सी के कॉलर पर इस आंदोलन का लोगो लगाया और मैदान पर घुटने के बल बैठकर इसके लिए अपनी अवाज बुलंद की थी। इसे लेकर वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने भी बड़ा बयान दिया था, उन्होंने कहा था की ‘मैदान पर यह सब करना जरूरी है इससे एकजुटता दिखती है और जागरूकता पैदा होती है’। वहीं अश्वेत लोगों को लेकर हुए हर आंदोलन में खेल जगत के लोगों ने हिस्सा लिया था और इनकी आवाज को बुलंद किया था। क्रिकेट खिलाड़ियों के इस पहल की दुनिया भर में चर्चा हुई थी, साथ लोगों ने भी इसे काफी सराहा था।

3. रूला गए फुटबॉल किंग Diego Maradona-
खेल जगत के लिए इस साल कई ऐसे पल भी आए, जिन्होंने फैंस की आंखों में आसूंओं का सैलाब ला दिया। इन सब में सबसी बड़ी खबर थी दिग्गज फुटबॉलर Diego Maradona के निधन की, करोड़ों लोगों के दिल पर राज करने वाले Maradona इस साल हम सब को छोड़ कर चले गए। Hand Of God गोल के लिए मशहूर Maradona का निधन इस साल 25 नवंबर को दिल का दौरा पड़ने से हुआ था । अपने जादुई खेल के लिए मशहूर Maradona ने अपने करियर में कई  ऐसे रिकॉर्ड बनाए थे, जिनका टूटना किसी सपने से कम नहीं लगता। चाहे साल 1986 में अर्जेंटीना को पहली बार फुटबॉल वर्ल्ड कप जीताना होगा या फिर गोल्डन बॉल अवॉर्ड जीतना,  Maradona ने हर उस कारनामें को कर दिखाया था, जिसकी कल्पना शायद किसी ने भी नहीं की थी। मैदान में खेलने से लेकर कोचिंग तक इस खिलाड़ी ने बार सिर्फ जीतना ही सिखा था। 

4. UAE में झमाझम क्रिकेट का रोमांच 
कोरोना वायरस के चलते इस IPL को भी कुछ समय के लिए रद्द करना पड़ा था। लेकिन फैन्स की दुआओं ने और BCCI की मेहनत ने इस फटाफट क्रिकेट के सफर पर ब्रेक नहीं लगने दिया। जहां संयुक्त अरब अमीरात में इस बार यह टूर्नामेंट का आयोजन हुआ, मैदान में भले दर्शक नहीं थे लेकिन इसका उत्साह पहले जैसा ही था। 8 टीमों के बीच  19 सितंबर से लेकर 10 नवंबर तक कई रोमांचक मुकाबले खेले गए। लेकिन आखिरी में बाजी फिर से मुंबई की पलटन ने ही मारी और फाइनल में दिल्ली के सपनों को हाईजैक कर लिया। वहीं इस साल सबसे की फेवरेट टीम चेन्नई का प्रदर्शन उसके नाम के मुताबिक नहीं रहा और टीम पूरे टूर्नामेंट में जीत के लिए जूझती नजर आई। IPL में  इस बार कई ऐसे युवाओं ने भी शानदार प्रदर्शन किया, जो जल्द ही आपको टीम इंडिया की जर्सी में दिखाई दे सकते हैं। 

5. जब कोरोना की फिरकी के आगे फेल हुए ये क्रिकेट टूर्नामेंट- 
कोरोना का असर ओलंपिक के साथ साथ क्रिकेट पर भी देखने को मिला और कई बड़े टूर्नामेंट इसके भेंट चढ़ते नजर आए। जिसमें सबसे अहम था टी-20 वर्ल्ड कप, अक्टूबर महीने में क्रिकेट का यह महाकुंभ ऑस्ट्रेलिया में होना था। लेकिन वायरस के वार के आगे किसी की एक ना चली और टी-20 वर्ल्ड कप ने भी ‘22 गज’ पर घुटने टेक दिए। अब यह वर्ल्ड कप अगले साल शिफ्ट कर दिया गया है। टी-20 वर्ल्ड कप के साथ एशिया कप के लिए फैंस का इंतजार सिर्फ इंतजार ही बन कर रह गया और इस टूर्नामेंट को भी टालना पड़ा। भले ही पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इसके टाले जाने का कारण IPL को बताया था, लेकिन इसका असली कारण पाकिस्तान में बढ़ते कोरोना मामले थे।

 
6. दक्षिण कोरिया ने मैदान पर बिठाए नकली दर्शक-
कोरोना महामारी के बीच इस साल कुछ देशों ने साहसी कदम भी उठाया, जिसमें सबसे अहम था खेलों को वापस शुरू करना । दक्षिण कोरिया और ताइवान यह दोनों ऐसे पहले देश बने जो मैदान पर खेली की रौनक को वापस लेकर आए। जहां दक्षिण कोरिया ने खिलाड़ियों को फैन्स की कमी महसूस नहीं होने दी और  बेसबॉल चैंपियनशिप में फेक भीड़ जुटाई। जिसके तहत मैदान पर फैंस के कटआउट लगाए गए, जिनके सामने चीयरलीडर्स डांस करती दिखीं। दक्षिण कोरिया का यह गजब आइडिया भी साल 2020 में खेल की खबरों में टॉप ट्रेंड करता रहा। दूसरी ओर ताइवान में भी चाइनीज लीग खेली गई, इसमें भी फैंस के कटआउट और डमी का इस्तेमाल किया गया।

7. वर्चुअल फैन्स के बीच हुए मुकाबले, तो बन गई बड़ी खबर-
कोरोना के चलते कई खेलों के नियमों में बड़े बदलाव किए गए, जिसका असर मैदान अंदर भी दिखा और बाहर भी। इन सब में सबसे प्रमुख नियम था कोविड 19 से बचाव के लिए मैदानों में दर्शकों की एंट्री, जो की शुरूआत में पूरी तरह से बैन कर दी गई थी। इस खबर ने कहीं फैन्स को निराश किया, तो कहीं लोगों ने अपने फेवरेट खिलाड़ियों तक पहुंचने का अलग तरीका खोज लिया। इसका सबसे बड़ा उदाहरण था डेनमार्क का दानिश सुपरलिगा, जहां फुटबॉल के इस खेल में फैन्स की मौजूदगी के लिए स्टेडियम में TV स्क्रीन का इंतजाम किया गया था। इस स्क्रीन पर ऐप पर लाइव मुकाबला देख रहे फैंस को दिखाया जा रहा था, साथ ही इस दौरान वहां लगे स्पीकर से उनकी आवाज भी सुनाई गई थी। यह अपने आप में पहली बार किया गया प्रयोग था, जो साल 2020 में काफी चर्चित भी रहा था।  

8. 1982 के स्टार फुटबॉलर ने भी छोड़ दिया साथ-  
फुटबॉल के लिए यह साल दुखों भरा ही रहा, जहां इस साल कई महान खिलाड़ी दुनिया को अलविदा कह गए । पहले Maradona और फिर इटली के फुटबॉलर पाउलो रोसी की मौत की खबर ने फैंस का दिल तोड़ दिया। 9 दिसंबर को आखिरी सांस लेने वाले रोसी साल 1982 के FIFA वर्ल्ड कप के स्टार थे, इस वर्ल्ड कप में उन्होंने अपने नाम सबसे ज्यादा गोल दर्ज किए थे। वहीं रोसी अपने करियर में गोल्डन बूट से गोल्डन बॉल तक का अवॉर्ड अपने नाम कर चुके थे। साथ ही उन्हें बेलन डी ऑर के पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था। 

9. थाला और चिन्ना थाला ने एक साथ छोड़ा इंटरनेशनल क्रिकेट-
माही, धोनी, मिस्टर कूल सहित कई नामों से मशहूर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास के लिए साल 2020 को चुना। इंस्टाग्राम के जरिए धोनी ने अपने इस सुनहरे सफर को समाप्त करने की जानकारी दी, जिसने ना जाने कितने फैंस से दिल को तोड़ दिया। क्रिकेट के हर फॉर्मेट में टीम को ट्रॉफी हासिल कराने वाले माही का सफर रन आउट से शुरू हुआ था, जो रन आउट पर ही आकर खत्म हुआ। बांग्लादेश के खिलाफ डेब्यू से लेकर न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी मैच में माही ने कई बड़े इतिहास रच दिए हैं, जिसने बदलना शायद ही मुमकिन होगा। वहीं माही के साथ उनके सबसे करीबी दोस्तों में से एक सुरेश रैना ने भी उसी दिन क्रिकेट को बाय-बाय कर दिया। लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे रैना ने भी सोशल मीडिया के जरिए अपने संन्यास की जानकारी दी थी।  

10. मेसी ने मारा मैदान, लगा दी पूरी जान-
साल 2020 का आखिरी महीना स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी (Lionel Messi)  के लिए यादगार बन गया। मैदान पर जीत का जादू चलाने वाले मेसी के नाम कई रिकॉर्ड हैं, लेकिन दिसंबर महीने में दर्ज हुआ एक नायाब रिकॉर्ड को शायद ही यह खिलाड़ी भूल पाएगा। जहां लियोनेल मेसी ने अब किसी एक क्लब की तरफ से सर्वाधिक गोल करने के पेले (Pele) के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। मेसी ने बार्सिलोना (Barcelona) की तरफ से स्पेनिश फुटबॉल लीग ला लिगा में वेलेंसिया खिलाफ खेलते हुए 643वां रिकॉर्ड गोल मारा। इससे पहले महान फुटबॉलर पेले ने 1957 से 1974 तक सांतोस की तरफ सबसे ज्यादा गोल दागे थे। 

11. 2 साल बाद वापसी, सानिया मिर्जा ने मचाई थी सनसनी- 
टेनिस स्टार सानिया मिर्जा के लिए भी साल 2020 धमाकेदार रहा, जहां उन्होंने कोर्ट में सिर्फ जीत की कहानी लिखी। सानिया ने साल के पहले ही महीने में नादिया किचनोक के साथ मिल कर WTA होबार्ट इंटरनेशनल का युगल खिताब अपने नाम किया था। सानिया के लिए यह जीत इस लिए भी खास थी, क्योंकि वो 2 साल के लंबे गेप के बाद खेल में वापसी कर रही थी। सानिया ने मां बनने के बाद पहली बार टेनिस रैकेट हाथ में थामा था, अपनी इस जीत को सानिया ने बेटे के लिए खास बताया था। 

12. कुश्ती का दंगल भी रहा सुपरहिट-
कुश्ती के दंगल में भी साल 2020 में भारत की धाक कायम रही और पहलवानों ने गोल्ड से भारत का गौरव बढ़ाया। जनवरी महीने में हुई रोम रैंकिंग सीरीज कुश्ती चैंपियनशिप में भारतीय पहलवानों का खेल देखने लायक था। सबसे पहले महिला पहलवान विनेश फोगाट ने फाइनल में गोल्ड मेडल जीता था, तो उनकी ही राह पर चलते हुए स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने भी सोने से नीचे बात नहीं की। इन दोनों पहवानों के धाकड़ प्रदर्शन ने इस साल ना जाने कितने बच्चों को कुश्ती के खेल और करीब ला दिया। 

13. जब पूरे भारत ने साथ मिलकर बोला ‘चक दे इंडिया’-
कहते हैं खेलों में रिकॉर्ड एक ना एक दिन टूट ही जाते हैं, ऐसा ही इस साल हॉकी में भी देखने को मिला। इस बार प्रो हॉकी लीग में एक शानदार रिकॉर्ड तोड़ने का कारनामा किया टीम इंडिया ने। जहां टीम ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए लगातार 2 बार नीदरलैंड को हराया, ऐसा टीम ने पूरे 36 साल बाद कर दिखाया था । इससे पहले टीम ने यह काम साल 1984 में किया था।

14. विमान हादसा बना था इस बास्केटबॉल स्टार की मौत का कारण- 
26 जनवरी 2020 की तारीख दुनिया भर के बास्केटबॉल फैंस के लिए किसी मनहूस तारीख से कम नही है। इसी दिन रिटायर्ड बास्केटबॉल स्टार कोबी ब्रायंट ने अपनी आखिरी सांस ली थी, जहां कोबी की मौत एक हेलिकॉप्टर हादसे में हो गई थी। साथ ही इस हादसे में कोबी की बेटी गियाना मारिया समेत कुल नौ लोग भी मारे गए थे, साल के शुरूआत में हुए इस हादसे ने सबको चौंका दिया था। कोबी खेल में अपनी तेजी के लिए जाने जाते थे, साथ ही उन्होंने अमेरिका के लिए ओलंपिक में 2 बार गोल्ड मेडल भी जीता था। 2016 में खेल को अलविदा कहने वाले कोबी के लिए किसने नहीं सोचा था, कि वो दुनिया को इतनी जल्दी अलविदा कहे देंगे।  

15. रफ्तार के सौदागर के लिए कुछ ऐसा रहा साल 2020-
फॉर्मूला-1 रेसर लुईस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) के लिए यह साल उतार-चढ़ाव से भरा रहा। ट्रैक पर बाकी प्रतिद्वंदियों को हारने के साथ, हैमिल्टन ने इस कोरोना को भी हराया। सबसे पहले हैमिल्टन ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम के लिए के बहरीन ग्रैंड प्रिक्स जीता, यह उनके लिए इस साल की सबसे बड़ी जीत थी। 7 बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम करने वाले हैमिल्टन की यह 95वीं जीत थी। लेकिन रफ्तार का यह सौदागर ज्यादा दिन अपनी इस जीत का जश्न नहीं मना सका और कोरोना पॉजिटिव हो गया। जिसके बाद से Sakhir Grand Prix से हैमिल्टन को अपना नाम वापस लेने पड़ा था, फिलहाल उन्होंने कोरोना को मात दे दी है। 

16. टेनिस में बढ़ा भारत का रूतबा-
भारत के हरियाणा में जन्म टेनिस स्टार सुमित नागल ने भी इस साल खूब वाहवाही लूटी और अपने खेल से सबका ध्यान खींचा था। सुमित ने साल 2020 में शानदार प्रदर्शन करते हुए US OPEN में पुरुषों के एकल स्पर्धा के दूसरे दौर में जगह बनाई थी। जिसके बाद से सुमित के नाम की चर्चा हर जगह होने लगी थी, वहीं सुमित से पहले यह कारनामा साल 2013 में सोमदेव देववर्मन ने किया था। आपको बता दें कि सुमित साल 2015 में विंबलडन डबल्स में भी शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं। 

17. वो टेस्ट मैच जो भारत कभी नहीं भूल पाएगा-
साल 2020 की आखिरी टेस्ट सीरीज हर भारतीय क्रिकेट फैन के जहन में रहेगी और इसका बड़ा कारण होगा विराट सेना का टेस्ट फॉर्मेट में शर्मनाक रिकॉर्ड । जहां टीम पिंक बॉल से हुए टेस्ट की दूसरी पारी में सिर्फ 36 रन पर सिमट गई थी, यह भारत का टेस्ट में अब तक का सबसे कम स्कोर रहा। इन सबसे में बड़ी बात यह थी कि कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाया था और पूरी टीम 21.2 ओवर ही खेल सकी थी। आपको बता दें कि इससे पहले  भारत का टेस्ट  में सबसे कम स्कोर 42 रन था, जो  इंग्लैंड खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर साल 1974 में बना था। इस मैच में टीम के कप्तान अजित वाडेकर थे और भारत की दूसरी पारी 17 ओवर में 42 रन पर सिमट गई थी।

18. रेसिंग ट्रैक की इन तस्वीरों ने डराया था-
इस साल हुए बहरीन ग्रैंड प्रिक्स से कुछ ऐसी तस्वीरें भी सामने आई, जिसने सारे फैंस को डरा दिया था। हास के ड्राइवर रोमेन ग्रोसजेन ट्रैक पर रेस के दौरान हादसे का शिकार हो गए थे। फ्रांस के रोमेन की कार रेस के शुरुआत में ही दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी, जिसके बाद उसमें आग लग गई थी। वहीं इस हादसे में रोमेन बाल-बाल तो बच गए थे, लेकिन वो कई जगहों से झुलस गए थे। हादसों की यह तस्वीरें साल 2020 में सबसे चर्चित तस्वीरों में से एक है। 

19. 2020 में भी लाल बजरी पर जारी रही राफेल नडाल की बादशाहत-
कोरोना के बीच टेनिस के फैंस को कुछ शानदार मुकाबले देखने को मिले, जिसमें सबसे अहम था फ्रेंच ओपन का फाइनल । जहां इस मैच में स्पेन के स्टार प्लेयर राफेल नडाल ने सर्बिया के नोवाक जोकोविच को एकतरफा हरा दिया था और यह खिताब अपने नाम किया था। नडाल ने 13वीं बार फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट जीता था। वहीं जीत के साथ नडाल ने स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर  के 20 ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी भी की थी।

20. कबड्डी के खेल में भी पड़ा इस साल खलल- 
कबड्डी के लिए भी यह साल निराशाजनक रहा और कोरोना के कहर को देखते हुए इसे टाल दिया गया। जहां इस साल Pro-Kabaddi लीग जुलाई से सितंबर के बीच खेला जाना था, लेकिन महामारी के कराण लीग का 8वां सीजन नहीं हो सका। Pro Kabaddi लीग ने बेहद कम समय में एक नया मुकाम हासिल किया है, भारत के साथ विदेशी जमीं पर भी लगातार प्रसिद्ध होता जा रहा है। अब इन्हीं क्रेजी फैंस का इस खेल के लिए अगली साल तक का इंतजार करना होगा।

 

खेलों की दुनिया से जुड़ी ताजा जानकारी के लिए डाउनलोड करें अलशॉर्ट्स ऐप।

AVAILABLE ON

Optimized with PageSpeed Ninja